Browsing Category

General Diseases

वातरोग या जोड़ों में दर्द के कारण सिर का दर्द का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For…

पल्सेटिला 6, 30 — वात-व्याधि जनित सिरदर्द में इसे औषधि का विशेष स्थान है। ब्रायोनिया 30 — वात-व्याधि के सिरदर्द में यह औषधि भी बहुत उपयोगी है। मर्क सोल 200 — सिरदर्द जो वात-व्याधि जनित हो, मस्तिष्क में छिद्र करता-सा सिरदर्द अनुभव होता है;…

स्नायुशूल से सिर में दर्द होने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Neuralgic Headache ]

कैमोमिला 30 — सिर के बाईं ओर तेज दर्द हो, तो यह औषधि इसमें लाभ करती है। ब्रायोनिया 6 — ऐसा दर्द जो माथे के एक तरफ हो और दाईं कनपटी फटने-सी लगे, रोगी को क्रोध अधिक आए, तब यह दें। जुगलैंस सिनेरिया (मूल-अर्क) 3 — सिर की गद्दी से उठने वाले…

पित्त के कारण सिरदर्द का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Bilious Headache ]

चिओनैनथस (मूल-अर्क) — सिरदर्द होने के बाद पित्त का वमन होकर सिरदर्द शांत हो जाए। ऐसे सिरदर्द में इस औषधि की कुछ बूंदें लगातार कुछ सप्ताह तक देते रहने से पित्त की शिकायत दूर हो जाती है और समय-समय पर आने वाला सिरदर्द दूर हो जाता है।

खून जमा होने से सिरदर्द का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Congestive ]

ग्लोनॉयन 6 — यदि रक्त-संचय के कारण सिरदर्द हो, ब्लड-प्रेशर हाई हो, जरा-सा सिर हिलाते ही दर्द बढ़ जाता है, सिर पर गर्मी बर्दाश्त नहीं होती, तब यह प्रयोग करें। साइलीशिया 30 — रात में रक्त-संचय के कारण सिरदर्द हो, ऐसी टपकन हो मानो सिर फट…

श्लैष्मिक झिल्ली की सूजन से सिर में दर्द का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Catarrhal…

बेलाडोना 30 — यदि दबे हुए जुकाम के कारण सिरदर्द हो और रोगी को ऐसा प्रतीत हो कि उसका सिर फट जाएगा, तब यह औषधि उपयोगी है। एकोनाइट 6, 30 — यदि जुकाम एकदम दब जाए, जिस कारण सिरदर्द हो गया हो, तो इस औषधि से शीघ्र लाभ होगा। चायना 30, 200 — जुकाम…

सिर का दर्द का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Headache ]

आज के आधुनिक जीवन में भागदौड़, काम-काज की व्यस्तता और आहार विहार में निश्चित समय और संतुलन न होने से 85 प्रतिशत स्त्री-पुरुष शिरःशूल (सिरदर्द) के शिकार होते हैं। लंबे समय तक गरिष्ठ, तेल-मिर्च तथा गरम मसालों की चीजें खाते रहने से उदर की…

विभिन्न प्रकार के पक्षाघात का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Treatment For Paralysis of Different…

मानसिक गड़बड़ी के कारण पक्षाघात — आर्निका, इग्नोशिया, नैट्रम-म्यूर, स्टैनम्। शारीरिक परिश्रम के कारण पक्षाघात — आर्सेनिक, आर्निका, रस-टॉक्स। आक्षेप आदि के कारण पक्षाघात — आर्सेनिक, कॉस्टिकम, काक्युलस, क्रूपम मेट, हायोसियामस, नक्सवोमिका,…

मूत्राशय का पक्षाघात (लकवा) का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Paraltysis of Bladder ]

सिकैल कोर 30 — मूत्राशय का पक्षाघात, मूत्र रुका रहता है, जोर लगाने से भी नहीं आता, वृद्ध व्यक्तियों का मूत्र अपने आप निकल जाता है। एकोनाइट 200 — ठंड लग जाने के कारण मूत्र का रुक जाना, मूत्राशय का पक्षाघात होना। इल्केमारा 30 — इसमें भी ठंड…

पोलियो का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Polio ]

प्रायः बच्चों को ही अधिक पोलियो होता है। यदि समय रहते छोटे बच्चों को पोलियो के टीके न लगवाए जाएं या इनका कोर्स पूरा न किया जाए, तो उन्हें पोलियो होने की पूरी-पूरी संभावना रहती है। इस रोग से बच्चे के हाथ या पैर टेढ़े हो जाते हैं, उनमें काम…

हाथ या बांह या माथा या शरीर का स्वयं-कंपन वाला पक्षाघात (लकवा) का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic…

एण्टिम टार्ट 3 — बाहर से ने कांपते हुए भी शरीर के भीतर रोगी कंपन का अनुभव करता है; शराबी लोगों में यह स्थिति अधिक होती है। किसी भी प्रकार की हरकत से हाथ कांपने लगते हैं, तब यह औषधि उपयोगी होती है। मर्क सोल 30 — रोगी की जिह्वा का कंपन, जिवा…

पैरों में लकवा मार जाने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Remedies For Loco-Motor Ataxia (Tabes…

जब रोगी के पैर ठीक से नहीं पड़ते और वह लड़खड़ाता-सा पैरों को घसीटता-सा चलता है, तो यह स्नायु-संस्थान का रोग होता है और ऐसा मेरुमज्जा की क्षीणता के कारण भी होता है। त्वचा के होने की अनुभूति नहीं रहती, सुन्नपन हो जाता है। इस अवस्था में…

स्थानिक पक्षाघात का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Local Paralysis ]

कौक्युलस 3, 30 — एक समय एक हाथ में सुन्नपन, दूसरे समय दूसरे हाथ। में सुन्नपन। ठंडा पसीना आना, चलते हुए घुटनों का परस्पर टकराना, घुटने का सूज जाना, एक तरफ का पक्षाघात। जेलसिमियम 200 — शरीर की भिन्न-भिन्न मांसपेशियों का पक्षाघात; गला, छाती,…

आधे शरीर में पक्षाघात का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Hemiplegia ]

लाइकोपोडियम 30 — दाएं आधे अंग में पक्षाघात होने की यह अत्युत्तम औषधि है। जेलसिमियम 6, 30 — शरीर की मांसपेशियां काम नहीं करतीं, पक्षाघात हो जाता है। यह पक्षाघात किसी मानसिक कारण से हो सकता है, किसी बुरे समाचार से भी हो सकता है। नक्सवोमिका…

चेहरे का पक्षाघात का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Facial Paralysis ]

सिकेल कोर 30 — चेहरे में अकड़न आरंभ होकर समूचे शरीर में फैल जाती है। रोगी को अकड़न चेहरे में अनुभव होती है। चेहरे पर दाग पड़ जाते हैं। चेहरा फीका पड़ जाता है। नाइट्रिक एसिड 30 — चेहरे पर फुसियां हो जाती हैं, आंखें चारों तरफ से फूल जाती…

हाथ या बांह या माथा या शरीर का स्वयं-कंपन वाला पक्षाघात का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine…

ऐगारिकस 30 — जिस अंग में रोग होता है, उसमें खुजली मचती है, मानों वह अंग ठंड से जम गया है, वह सुन्न हो जाते हैं। फाइजोस्टिग्मा 30 — हाथ, बांह में पक्षाघात में उपयोगी है। मर्क विवस 30 — गोनोरिया का विष के कारण पक्षाघात हुआ हो, रोगी को सर्दी…