घाव से बुखार आ जाना – Traumatic Fever – Ghav se Bukhar aana

0 486

शरीर में किसी भी धारदार चीज से घाव हो जाने पर यह ज्वर उत्पन्न हो जाता है और एकाएक बहुत तेजी से चढ़ता है। समूचा शरीर दर्द से पीड़ित हो जाता है। माथा गरम रहता है, जीभ सूखी रहती है, इत्यादि लक्षण दिखने लगते हैं।

एकोनाइट 30 – यदि पेशाब लाने के लिए कैथीटर लगाने पर ज्वर आ जाए, या घाव, चोट आदि से ज्वर चढ़ जाए और कई दिनों तक बना रहे तो इसे दें।

लैकेसिस 30 या आर्निका 30 – यदि घाव आदि से होने वाला ज्वर घाव में पस पड़ जाने की वजह से हो, तो इन दोनों औषधियों में से किसी एक औषधि का प्रयोग किया जा सकता है।

Loading...

चायना 30 – घाव हो जाने से ज्वर का भयंकर रूप लेने पर दें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.