पित्त बढ़ना (पित्त का आक्रमण) का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Bilious Attack ]

0 436

जब पित्त का आक्रमण होता है, तो तेज सिरदर्द होता है, दस्त आरंभ हो जाते हैं और अम्ल (एसिड) का वमन हो जाता है।

ब्रायोनिया 30 — पित्त का आक्रमण होने पर यकृत के पास गोली लगने जैसा दर्द होता है, दाएं फेफड़े के निचले हिस्से में दर्द उठता है। हरकत करने से दर्द की वृद्धि हो जाती है, कब्ज बना रहता है, कभी-कभी पतले दस्त भी हो जाते हैं, तब यह औषधि उपयोगी सिद्ध होती है।

युक्का फिलमेंटोसा (मूल-अर्क) 3, 6 — यह औषधि पित्त के आक्रमण में बहुत उपयोगी है। जब यकृत के ऊपरी हिस्से से दर्द उठकर पीठ की तरफ जाता है, मुंह का स्वाद बहुत खराब रहता है, दस्त आते हैं, पेट से अपान वायु बार-बार रिसती है, तब इस औषधि से उपकार होता है।

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.