जलन या ईर्ष्या का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Envy ]

0 132

एपिस 6, 30 — जो रोगी ईष्र्यालु होता है, उसे शांत करना कठिन होता है, क्योंकि ईष्र्या के कारण वह क्रोध में उन्मत हो जाता है। ऐसे रोगी के लिए यह औषधि उपयुक्त है।

लैकेसिस 30 — रोगी ईष्र्या के मारे पगला-सा जाता है और बकने लगता है, संदेहशील होता है, उसे यह भी ज्ञात नहीं रहता कि किस समय क्या कहना है।

हायोसाएमस 30 — इसका रोगी ईष्र्या से क्रोध में आकर दूसरे से झगड़ने को तत्पर हो जाता है। किसी की सफाई सुनना पसंद नहीं करता; वह पागलों की तरह व्यवहार करता है।

Loading...
Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.