बालों के रोग का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Hair Disease ]

0 816

हार्मोन्स की कमी के कारण कभी-कभी शरीर के किसी भाग को पोषण नहीं मिलता है। प्रायः थाइरॉयड ग्लैंड के हार्मोन के पूर्ण मात्रा में न निकलने की वजह से असमय ही बाल सफेद हो जाते हैं, वह तेजी से झड़ने लगते हैं और सिर गंजा हो जाता है, अतः इसकी चिकित्सा करना बहुत आवश्यक हो जाता है।

थायरॉयडीनम 30, 200 — इस औषधि की 1 मात्रा सप्ताह में 1 बार लेते रहने से बाल जल्दी सफेद नहीं होते, न ही झड़ते हैं और न ही गंज आदि होता है।

बैसीलीनम 200 — इसके नित्य प्रयोग से बालों का झड़ना रुक जाता है।

Loading...

लाइकोपोडियम 30 — बाल झड़ने से रोकने लिए यह सर्वोत्तम औषधि है।

मेजेरियम 6 — सिर में श्वेत रूसी, अत्यधिक खुश्की, सिर पर से छिछड़े उधड़ना और खुजली।

एनेथेरम 3 — दाढ़ी और मूंछों के बालों का झड़ना।

सेलेनियम 30, 200 — सिर से, आंखों की भौंओं से, मूछों से, जननेन्द्रिय के स्थान से बाल झड़ना।।

फ्लोरिक एसिड 30 — साधारण रूप से बाल झड़ने में यह औषधि उपयोगी है।

कैलि कार्ब 200 — सिर में खुश्की के कारण बालों के झड़ने में लाभप्रद है।

एसिड फॉस 30 — बालों का अतिशीघ्र सफेद हो जाना और शोक आदि के कारण उनका झड़ना।

नाइट्रिक एसिड 6 — बाल झड़ने के साथ गीली फुसियां, सिर को स्पर्श न कर सकना।

थूजा (मूल-अर्क) 30 — सिर में खुश्क सफेद, छिलकेदार रूसी के कारण बाल झड़ते हैं।

अस्टिलैगो (मूल-अर्क) 3 — सिफिलिस के कारण बालों का झड़ना। बाल झड़ जाने के बाद पुनः नहीं आते।।

फास्फोरस 30 — बालों के गुच्छे के गुच्छे झड़ते हैं, इसमें इससे लाभ होता है।

कैल्केरिया फॉस 6 — हर प्रकार के बाल झड़ने में उपयोगी है।

बेलाडोना 3, 30 — मानसिक अवसाद के कारण बाल झड़ने लगना।

नैट्रम म्यूर 30 — गर्भावस्था में स्त्री के बाल झड़ना।

सिपिया 200 — यह औषधि भी बाल झड़ने में दी जाती है।

आर्सेनिक 30 — यदि बालों की जड़ कमजोर होने के कारण बाल झड़ते हों, खोपड़ी में बेहद खुश्की हो, शरीर की त्वचा में भी खुश्की हो या शरीर की पोषण-क्रिया बिगड़ गई हो, तो इस औषधि के प्रयोग से बालों का झड़ना रुक जाता है।

सैनीक्यूला 30 — सिर पर अत्यंत रूसी हो, तो इससे लाभ होता है।

सोरिनम 200 — सिर में स्थित रूसी से बदबू आती है, बाल सूखे और खुश्क होते हैं, खोपड़ी में छोटी-छोटी फंसियां होती हैं और बाल झड़ने लगते हैं।

सल्फर 30 — सिर में सफेद रूसी, सिर की त्वचा का खुश्क हो जाना, खुजली खुजलाने से जलन आदि लक्षणों में या अन्य किसी औषधि से रूसी न जाए और बालों का झड़ना बंद न हो, तो यह औषधि लाभ करती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.