स्तन की सूजन का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Mastitis ]

0 205

प्रसव के बाद (किसी भी समय) स्तन का दाह और उसके साथ ज्वर हो सकता है। उस समय प्रसूता के स्तनं की घंडी में या समूचे स्तन में दर्द और पीड़ा हो सकती है। इस कारण से बच्चे को वह अपना स्तन नहीं पिला सकती, क्योंकि इससे उसे असह्य पीड़ा का अनुभव होता है।

ब्रायोनिया 3 — समूचा स्तन लाल होकर उसमें जलन हो जाने पर उपयोगी है।

एकोनाइट 6, 30 — किसी-किसी का कहना है कि रोग की पहली अवस्था में बेलाडोना और ब्रायोनिया का पर्याय-क्रम से व्यवहार करना चाहिए। इसमें दर्द जल्दी-जल्दी घट सकता है, किंतु बढ़ नहीं सकता। इसके साथ ही तीव्र ज्वर रहने पर एकोनाइट और ब्रायोनिया पर्याय-क्रम से देने की सलाह देते हैं।

Loading...

मर्क्युरियस-सोल 6 — यदि स्तन फूलता ही जाए और उसमें पीब पैदा होने का डर रहे, तब दें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.