नर्वस शिरोवेदना का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Nervous Headache ]

0 178

यह रोग उन्हें हुआ करता है, जो हिस्टीरिया, खिन्नता या मानसिक अवसाद से ग्रस्त होते हैं या अधिक वीर्य-क्षय और रक्तस्राव आदि से शक्तिहीन हो जाते हैं। उद्वेग, मानसिक थकान, ऋतु-धर्म, रक्तस्राव, वीर्य-क्षय आदि कारणों से भी शिरोवेदना हो जाती है।

बेलाडोना 30 — जो स्त्रियां हिस्टीरिया-ग्रस्त होती हैं, सिरदर्द की रोगी हो जाती हैं; तनिक-सा भी शोर जिन्हें सुनाई देने पर सिर फटने को हो जाता है, इसमें उपयोगी है।

चायना 30 — रात और दिन हर समय सिरदर्द रहना, आंखें खोलने पर दर्द का अधिक बढ़ जाना, पढ़ने और काम करने में परेशानी महसूस होना। सिरदर्द के कारण अधिक सोच न पाना।

Loading...

चियोनैन्थस (मूल-अर्क) — पुराना सिरदर्द हो, आंख के गोलकों में दर्द हो; यकृत-दोष के कारण सिरदर्द हुआ हो, तो इसकी 8 से 10 बूंद दिन में 3-4 बार तीन-चार सप्ताह तक दें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.