उबासियां लेने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Treatment For Yawning ]

0 184

सल्फर 30 — खूब उबासियां आएं, साथ ही डकार भी आती रहें, तब यह उपयोगी है।

लैकेसिस 30 — हाथ-पैरों और पीठ में दर्द के साथ बेचैनी के साथ अत्यधिक उबासियां भी आएं।

लाइकोपोडियम 5 — दोपहर तथा शाम को भोजन करने के बाद बहुत अधिक उबासियां आना।

Loading...

एकोनाइट 6, 30 — न रात में नींद आए और न दिन में, किंतु उबासियां निरंतर भाती रहें।

रस-टॉक्स 30 — बहुत अधिक उबासियां आएं और आक्षेप इतना जबरदस्त हो कि जबड़े के स्थान-भ्रष्ट होने का भय उत्पन्न हो जाए, तब यह औषधि लाभ करती है।

चेलिडोनियम (मूल-अर्क) 3 — अंगड़ाइयां आएं, उबासियां आती रहें; रोगी सारी रात जागता रहे और उसे निद्रा न आए, तब इस औषधि से लाभ होता है।

नक्सवोमिको 6 — भोजन के बाद घंटों उबासियां आती रहें। भरपूर निद्रा के बाद भी लगातार उबासियां आती रहें।

नैट्रम म्यूर 30 — भरपूर खाने और भरपूर सोने के बाद भी उबासियां आती रहें।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.