योनि भ्रंश का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Prolapsus of the Vagina ]

गुदा में कड़ा मल इकट्ठा होना, बहुत अधिक परिश्रम करना, भारी चीजें उठाना, बहुत समय से उकड़ बैठे रहना, मल-त्याग के समय कांखना, प्रसव के बाद जल्दी उठ बैठना, कब्जियत, जुलाब लेना, अधिक संगम, बवासीर, वमन, कसे हुए वस्त्र धारण करना, अधिक उछल-कूद…

घुमेरी या चक्कर का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Vertigo or Giddiness ]

बैठी हुई हालत से लेटने पर या उठने पर घुमेरी का आना, वृद्ध लोगों को तंबाकू का अधिक सेवन करने के कारण घुमेरियां आना; किसी वस्तु को एकटक देखने पर वह वस्तु घूमती प्रतीत होना, जीना चढ़ते या उतरते हुए घुमेरी (सिर घूमना) आना। बिस्तर पर करवट बदलने…

त्वचा की टी.बी होने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Lupus ]

इस रोग में नाक के पास लाल और भूरे रंग के छोटे-छोटे दाने निकल आते हैं, जो धीरे-धीरे बढ़ते हैं। जब ये फूट जाते हैं, तो घाव हो जाता है। यदि न फूटें, तो त्वचा में जज्ब हो जाते हैं। यह रोग स्त्रियों को प्रायः बीस से तीस वर्ष की आयु में होता है।…

छाती में रक्त संचय का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Treatment For Chest Congestion ]

आलस्य का जीवन बिताने, भूख में खूब ढूंस-ठूस कर पेट भरने, अधिक सिगरेट या शराब पीने की आदत से फेफड़ों में रक्त-संचय की शिकायत हो जाए, तब निम्न औषधियां लाभ पहुंचाती हैं। फास्फोरस 3 — रोगी तंद्रा में रहे, काला या जंग के से रंग का कफ फेफड़ों से…

जुएं पड़ जाने की बीमारी का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Head Lice Infestation,…

सोरिनम 200 — सिर में (बालों में) जू हो जाने पर यह औषधि लाभ करती है। कार्बोलिक एसिड 3, 30 — यह औषधि भी जू को विनष्ट करती है। लाइकोपोडियम 30 — किसी भी रोग की चिकित्सा के रूप में आप इस औषधि का प्रयोग करते हैं और आपके बालों में जूं पड़ गई…

रक्त में श्वेत कणों की वृद्धि का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For White Blood Corpuscle ]

ऐसा कई बार देखने में आया है कि रक्त में श्वेतकणों की अत्यधिक वृद्धि हो जाती है, जिस कारण रोगी का चेहरा मलिन हो जाता है। इस रोग का होना अच्छी बात नहीं है, इसलिए जैसे ही इसकी उत्पत्ति हो, इसके उपचार की प्रक्रिया शीघ्र करनी चाहिए। नैट्रम…

गुदा प्रदेश में सूजन आने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Inflammation of Rectum ]

फास्फोरस 30 — गुदा-प्रदेश में छुरी के चुभने की-सी जलन-मिश्रित कष्ट होता है। मल बड़ी कठिनता से बाहर आता है। मेले लंबा और सख्त होता है, कुत्ते के मल जैसा; मल के समय गुदा से रक्त बहने लगता है, तब इस औषधि से लाभ होता है। नाइट्रिक एसिड 6 — गुदा…

छाती में पानी भरने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Hydrothorax ]

छाती में पानी भर जाने की अवस्था में निम्न औषधियां विशेष लाभ करती हैं। इस रोग को अंग्रेजी में "हाइड्रोथौरेक्स" कहते हैं। आर्सेनिक 30 — छाती में पानी भर जाने की वजह से श्वास भारी हो जाता है, दम-सा घुटने का अटैक-सा पड़ता है, मध्य-रात्रि में…

याददाश्त का कमजोर होने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Forgetfulness ]

भूल जाने को "भुलक्कड़पन" भी कहा जाता है। व्यक्ति अपनी कही बात को भूल लाता है, उसे कहां जाना है, यह भूल जाता है; वह अधिक सोच नहीं पाता है, बच्चों का-सा व्यवहार करता है, बात करने से शर्माता है, मानसिक थकावट के कारण स्मृति का ह्रास हो जाता है।…

बालों के पकने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Premature Greying of Hair ]

पाइलोकारपस 1x — यदि बाल असमय में ही पकने लगें, तो इस औषधि की। मात्रा कुछ महीनों तक प्रयोग करें। इससे आगे बालों का पकना बंद हो जाता है। नैट्रम म्यूर 30 — यदि किसी रोग के कारण बाल पकने लगें, तो यह औषधि प्रयोग कर देखें। थाइरॉडीन 30, 200 —…

बालों के रोग का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Hair Disease ]

हार्मोन्स की कमी के कारण कभी-कभी शरीर के किसी भाग को पोषण नहीं मिलता है। प्रायः थाइरॉयड ग्लैंड के हार्मोन के पूर्ण मात्रा में न निकलने की वजह से असमय ही बाल सफेद हो जाते हैं, वह तेजी से झड़ने लगते हैं और सिर गंजा हो जाता है, अतः इसकी…

शराबियों का प्रलाप या डेलेरियम त्रेमेंस का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Delirium…

अधिक मात्रा में नित्य शराब (मदिरा) पीने से प्रलाप, निद्रा न आना और भ्रांत-विश्वास दिखाई देने का नाम ही "प्रलाप" या "कंपन" है। विशेषकर मस्तिष्क में शराब का विष फैले जाने से यह रोग होता है। शराबी की शराब एकाएक बंद कर देना, शरीर का ठीक प्रकार…

रोगभ्रम का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Treatment For Hypochondria, Health Anxiety ]

किसी प्रकार का शारीरिक रोग न होने पर भी यह बात मन में बैठ जाना कि कोई गंभीर रोग हुआ है और इसी चिंता में उद्विग्न रहने का नाम व्याधि-कल्पना है। वास्तव में यह एक मानसिक विकृति है। रोगी का माता-पिता के वश में रहना, रति-क्रिया से विमुख रहना या…

मनोभ्रंश (डिमेंशिया) का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Dementia ]

जिस उन्माद रोग में बुद्धि का कार्य कम हो जाता है, एकदम नष्ट हो जाता है, उसे ही "बुद्धि-वैकला" कहते हैं। यह रोग 6 प्रकार का होता है-(1) नया या तरुण, (2) शराब से पैदा हुआ, (3) हस्तमैथुन के कारण, (4) वृद्धावस्था के कारण, (5) यांत्रिक और (6)…

मोटापा का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Corpulence, Obesity ]

समूचे शरीर में, त्वचा के नीचे अधिक परिमाण में चर्बी बढ़ जाने को "मेद-वृद्धि" या स्थूलकाय रोग कहते हैं। श्वास में कष्ट, थोड़े परिश्रम से ही हांफ जाना, रक्त का ठीक प्रकार से संचालन न होना आदि उपसर्गों के कारण रोगी का शरीर और मन सदैव बिगड़ा…