सुखंडी रोग का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Marasmus Diseases ]

0 652

कुछ भी अच्छी तरह से न पचने के कारण बच्चे का शरीर सूखता जाए, तो समझना चाहिए कि उसे सुखंडी (सूखे का) रोग हो गया है।

एब्रोटेनम 30 — बच्चा खाता-पीता भरपूर हो, फिर भी उसका शरीर सूखता जाए।

Loading...

आयोडियम 30 — सारा शरीर सूख जाती है, मुंह पर झुर्रियां पड़ जाती हैं। पुष्टिकर भोजन खाने पर भी बच्चे की यह अवस्था हो जाती है, दिन भर खाने को मांगता है और खाता भी है।

सिफिलीनम 200 — इसमें भी सारा शरीर क्षीण हो जाता है। बाल झड़ने लगते हैं, सूर्यास्त से सूर्योदय तक रात्रि के समय रोगी के सब लक्षण बढ़ जाते हैं।

कैल्केरिया कार्ब 30 — इस औषधि के सूखे के रोग में सिर और पेट बहुत बड़े होते हैं, गरदन और पैर पतले होते हैं। सोने पर पसीना बहुत आता है। पसीने से खट्टी बू आती है।

ट्युबर्म्युलीनम 200 — सूखे की अन्य औषधियों में जहां बच्चा पुष्टिकर भोजन लेने पर भी दुबला होता जाता है, खाता-पीता है, किंतु साथ ही थका-मांदा रहता है। वह प्रतिदिन कमजोर होता जाता है। जब उपर्युक्त औषधियों से लाभ न हो, तो यह औषधि लाभ कर देती है।

Loading...

Leave A Reply

Your email address will not be published.