Browsing Category

Stomach Diseases

मुंह में खट्टा पानी आने का होम्योपैथिक दवा [ Muh Me Khatta Pani Aane Ka Homeopathic Medicine

अजीर्ण, यकृत या पाकाशय की सर्दी आदि रोगों के कारण खट्टी, दुर्गन्धयुक्त या स्वादरहित डकार आती है और मुंह में पानी भरा-भरा-सा महसूस होता है। बराबर भारी या अपुष्टिकर भोजन करने के कारण, खासकर गरीब लोगों को यह रोग अधिक हुआ करता है। कार्बोवेज…

पेट दर्द का होम्योपैथिक दवा [ Homeopathic Medicine For Gastralgia ]

इसमें पेट में असह्य दर्द होता है और कभी-कभी यह दर्द बहुत अधिक समय तक रहता है। दर्द पहले पेट के किसी एक स्थान पर होता है, बाद में वह चारों तरफ फैल सकता है। अधिकतर नाभि के नीचे ही ज्यादा होता है। भोजनोपरांत पाकस्थली में नाखून से खरोंच डालने…

पेट फूलने का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Flatulence ]

हर समय ऐसा अनुभव हो कि पेट में वायु भरी हुई है, जिस कारण पेट फूला हुआ है, इस कारण अत्यधिक घबराहट, बेचैनी और मानसिक तनाव आदि उत्पन्न हो जाता है। निम्न औषधियां इस रोग में अच्छा काम करती है। चायना (सिनकोना) 30 - संपूर्ण पेट में वायु-संचय…

Colic ( पेट में दर्द ) का होम्योपैथिक इलाज – उदरशूल

आंतों के भीतर स्नायविक ढंग का (शूल के दर्द की तरह) समय-समय पर एक तरह का तीव्र दर्द होता है, उसे कॉलिक या एण्टेरेल्जिया (अंत्र-शूल) कहते हैं। इससे आंतों में किसी तरह का यांत्रिक परिवर्तन नहीं होता। कॉलिक (शूल) के कारणों में से कुछ का विवरण…

पेट में दर्द का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Remedies for Stomach Pain ]

इसे 'गैस्ट्रोडायनिया' भी कहते हैं। इसको हिन्दी में पाकाशय का शूल या जठर-वेदना कहते हैं। इसमें अग्रखंड के नीचे एक प्रकार का एक दर्द होता है। गैस्ट्रेल्जिया का दर्द एकाएक उत्पन्न हो जाता है, ऊपरी पेट में अग्रखंड के नीचे कसावट, खींचन, जलन,…

गेस्ट्राइटिस (पेट में सूजन) का होम्योपैथिक इलाज [ Pet Me Sujan ka Homeopathic Dawa ]

पाकाशय-प्रदाह (गेस्ट्राइटिस) रोग में पाकस्थली की श्लैष्मिक-झिल्ली का प्रदाह हो जाता है, इसलिए इसका दूसरा नाम 'गैस्ट्रिक के टार' है। ऐक्युट (नया) और क्रॉनिक (पुराना) भेद से ‘गेस्ट्राइटिस' दो प्रकार का होता है - (1) प्राथमिक (प्राइमरी) कारण,…

बदहजमी (अपच) का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Dyspepsia ]

डिस्पेप्सिया का अर्थ है - बदहजमी, अजीर्ण या अग्निमांद्य रोग! हम लोग जो कुछ खाते हैं, वह यदि अच्छी तरह न पचे, तो शरीर की सभी क्रियाओं में गड़बड़ी पैदा हो जाती है, परिणाम यह होता है कि शरीर क्रमश: कमजोर, रक्तहीन और बेकार हो जाता है - यही…

गैस, एसिडिटी का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Acidity ]

बदहजमी में डकारों के साथ भोजन-नली में जलन और दर्द होता है और रोगी कहा करता है कि गले से पेट तक जलन होती है। यह जलन बाहर की छाती में न होकर पेट से ऊपर तक की भोजन-नली में होती है। इसका कारण प्राय: पेट में अत्यधिक अम्ल (Acidity) का होना होता…

कब्ज का होम्योपैथिक इलाज [ Homeopathic Medicine For Constipation ]

कब्ज किसे कहते हैं? हम लोग नित्य जो खाते हैं, उसका सार अंश रक्त और असार अंश मल में परिणत होकर रोज निकल जाता है, यही स्वाभाविक नियम है। जब ऐसा न होकर वही मल बहुत दिनों तक आंतों में रुका रह जाए, रोज निकल न जाए या कष्ट से निकलता हो, तो उसे…